Curry leaf करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

Curry leaf  करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
Curry leaf  करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
करी पत्ता रक्त में एचडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ाकर कोलेस्ट्रॉल के स्तर को संतुलित बनाए रखता है। यह दिल से जुड़ी बीमारियों से दूर रहने में मदद करता है। इसलिए अपने भोजन में करी पत्ता को नियमित रूप से शामिल करना चाहिए। भारतीय व्यंजनों में इस्तेमाल किए जाने वाले मसालों में करी पत्ता या मीठा नीम भी प्रमुख है, जो खाने में स्वाद और सुगंध का तड़का ही नहीं डालाता, बल्कि अपने औषधीय गुणों के कारण स्वास्थ्यप्रद भी है। उनके फायदों के बारे में जानकारी दे रही हैं रजनी अरोराभारतीय व्यंजनों में इस्तेमाल किए जाने वाले मसालों में करी पत्ता या मीठा नीम भी प्रमुख है, जो खाने में स्वाद और सुगंध का तड़का ही नहीं लगाता, बल्कि अपने औषधीय गुणों के कारण स्वास्थ्यप्रद भी है। उनके फायदों के बारे में जानकारी दे रही हैं रजनी अरोड़ा एनीमिया से बचाव आयरन और फोलिक एसिड से भरपूर करी पत्ता एनीमिया से बचाव में कारगर है। इसके लिए सुबह के समय खाली पेट दो-तीन कटोरे खजूर के साथ खाना चाहिए। इससे शरीर में आयरन का स्तर बेहतर होगा और एनीमिया की आशंका कम होगी।
Curry leaf  करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
एनीमिया से बचाव आयरन और फोलिक एसिड से भरपूर करी पत्ता एनीमिया से बचाव में प्रभावी है। इसके लिए सुबह के समय खाली पेट दो-तीन कटोरे खजूर के साथ खाना चाहिए। इससे शरीर में आयरन का स्तर बेहतर होगा और एनीमिया की आशंका कम होगी। लिवर को रखे स्वस्थ करी पत्ता खान-पान की गलत आदतों और अल्कोहल के अधिक सेवन से कमजोर पड़ लिवर को मजबूती प्रदान करता है। इसमें मौजूद विटामिन ए और विटामिन सी लिवर को सुचारु रूप से चलाने में दवा का काम करते हैं। शोधन प्रक्रिया को बनाए रखने सुचारु बैक्टीरिया रोधी और सूजन रोधी गुणों से भरपूर करी पत्ता पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है। इसमें मौजूद कार्मिनटिव तत्व कब्ज दूर करता है, तो कार्बोजोल डायरी या डायरिया में राहत देता है। ई-दस करी पत्तों को पीस कर उनका रस निकाल लें। उसे छाछ में मिलाकर दिन में दो-तीन बार पिएं। अपच में राहत बैक्टीरिया रोधी गुणों से भरपूर करी पत्ता अपच से राहत पाने में असरदार है। इसके लिए घी को गर्म कर उसमें सात-आठ करी पत्ता, थोड़ा-सा जीरा, डेढ़ चम्मच सोंठ, शहद और पानी सहित उबाल लें। फिर उसे ठंडा करने के बाद पिएं।
Curry leaf  करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
बालों की समस्याओं को दूर कर सकता है प्रोटीन, खनिज, बीटा कैरोटीन, एंटी ऑक्सिडेट ?? और बैक्टीरिया रोधी गुणों में भरपूर करी पत्ता का लेप बालों में लगाने से उनका झड़ना और असमय सफेद होना रुक जाता है। बालों के रूके-बेजान होने से उनमें डैंड्रफ की समस्या से भी राहत मिलती है। इसके लिए कर् पत्तों का कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। इन्हें खा सकते हैं, घूप में सूखे करी पत्ते को पीस कर दही में मिलाकर बना सक स्कल्प पर लगा सकते हैं, करी पत्तों को तेल में गर्म करके बालों में लगा सकते हैं, इन पानी में उबालकर तैयार किए गए काढ़ा को ठंडा होने के बाद। बालों में लगा सकते हैं। लेप तैयार करने के लिए 10-12 बादाम भिगो दें। सुबह छिलके उतार कर 10-15 कड़े और थोड़ा सा पानी मिलाकर उसका पेस्ट बना लें। पेस्ट को स्कैल्प पर लगाकर मसाज करें। कुछ देर बाद शम्पू से बाल धो लें। कर्क्स की चाय पीना भी फायदेमंद है। करी पत्तों को पानी में उबालें। इसमें नीबू और शहद मिलाकर रोजाना कम से कम एक बार पिएंन।
Curry leaf  करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
त्वचा के संक्रमण का उपचार करी पत्ता में मौजूद एंटी ऑक्सिडेंट, बैक्टीरिया रोधी और कवक रोधी गुण त्वचा में हुए संक्रमण को दूर करने में सहायक हैं। कर्क्स का फेस पैक लगाने से मुंहासे, रुखापन, दाग-धब्बे, बढ़ती उम्र के प्रभाव व झुर्रियां दूर करने में मदद मिलती है। फेस पैक बनाने के लिए कर्क्स को धूप में सुखाकर पीस लें। पाउडर में गुलाब जल, मुलतानी मिट्टी, थोड़ा-सा चंदन और नारियल का तेल मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। इस फेस पैक को हल्के हाथों से चेहरे पर लगाएं। 15-20 मिनट बाद फेस पैक सूखने पर ठंडे पानी से धो लें। बदहजमी से निजात बदहजमी के कारण जी मिचलाने, घबराहट या उल्टी होने की स्थिति में करी पत्तियों का एक चौथाई कप रस, आधा नीबू का रस और एक चुटकी चीनी सहित पीने से काफी आराम मिलता है। बवासीर में लाभकारी तासीर वाला करी पत्ता बसीर में आराम पहुंचता है। इसके ई-दस क्लस्टर एक-चौथाई कप पानी के साथ पीसें। पानी छानने कर पिएं, लाभ होगा
Curry leaf  करी पत्ता के ये फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
मोटापा करे कम कर्ल्स में मौजूद फाइबर शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है। इससे वजन भी कम होता है इसके लिए ई-दस कर्क्स चबा-चबा कर रोजाना खाटे हैं। ब्लड शुगर रखे कंट्रोल कर्क्स में मौजूद फाई बॉडी में इंसुलिन को कम कर ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में में कमी होती है। डायबिटीज दूर करने के लिए रोजाना सुबह खाली पेट ई-दस कर्क्स चबा-चबा कर खाएं। (सिद्घांत आयुर्वेद क्लिनिक की डॉ। पूर्णिमा सिद्घांत से की गई बातचीत पर आधारित)

  1. curry leaf
  2. curry leaf plant
  3. curry leaf powder
  4. curry leaf chutney
  5. curry leaf benefits
  6. nausea meaning in tamil






Post a Comment

0 Comments